क्या शरद पवार बनेगे UPA के नए अध्यक्ष, ले सकती है सोनिया गांधी रिटायरमेंट

एनसीपी के अध्यक्ष और कद्दावर नेता शरद पवार के हाथों में UPA की कमान आ सकती है. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के रिटायरमेंट की खबरें आ रही है उनके हटने के बाद सबसे बड़ा नाम शरद पवार का उभर कर आया है जो कि सोनिया गांधी के बाद यूपीए के अध्यक्ष पद की दौड़ में सबसे आगे हैं. यूपीए को जल्द ही उसका नया अध्यक्ष मिल सकता है और इसे लेकर जल्दी यूपीए की बैठक होने की संभावना है यूपीए में कई दल शामिल है.

अगले साल के अंत तक कांग्रेस अध्यक्ष का होगा चुनाव

कांग्रेस में अध्यक्ष पद के लिए अगले साल के अंत तक चुनाव होने हैं कांग्रेस के अध्यक्ष रह चुके राहुल गांधी पार्टी अध्यक्ष के तौर पर जिम्मेदारी संभालने के लिए फिर से तैयार नहीं है. जिसके चलते कांग्रेस में चुनाव होने के बाद उसे जल्द ही अपना नया प्रेसिडेंट मिल सकता है. आपको बता दें कि राहुल गांधी के अध्यक्षता में कांग्रेस ने छत्तीसगढ़, राजस्थान, कर्नाटक, मध्य प्रदेश में सत्ता संभाली थी. लेकिन लोकसभा चुनावों में पार्टी के हारने के बाद राहुल गांधी ने अध्यक्ष पद से अपना इस्तीफा दे दिया था उसके बाद सोनिया गांधी ने अंतरिम अध्यक्ष के तौर पर पार्टी की जिम्मेदारी संभाली थी.

Also Read:  OP Sharma Death: महान जादूगर OP शर्मा का हुआ निधन, जानिए क्या करती है ओपी शर्मा की फैमिली

शरद पवार का नाम UPA अध्यक्ष के लिए सबसे आगे

सोनिया गांधी ने कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में पद छोड़ दिया था लेकिन यूपीए अध्यक्ष और संसदीय दल के नेता के पद पर बरकरार रही थी. सोनिया गांधी के रिटायरमेंट के लिए उनका टर्म पूरा होने वाला है इसके बाद सोनिया गांधी UPA अध्यक्ष का पद छोड़ देंगे. उनके रिटायरमेंट के बाद यूपीए अध्यक्ष पद के लिए संभावित उम्मीदवारों में कई नाम चल रहे हैं लेकिन इन नामों में सबसे आगे महाराष्ट्र के राजनीति के दिग्गज नेता और एनसीपी प्रमुख शरद पवार का है.

यूपीए को ऐसे नेता की तलाश जो मोदी से ले सके टक्कर

क्षेत्रीय दलों में कई ऐसे ताकतवर पार्टी और नेता जैसे टीएमसी चीफ और पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, डीएमके अध्यक्ष एम के स्टालिन राहुल गांधी जैसे युवा कांग्रेस नेताओं के साथ बातचीत के लिए सहमत नहीं होंगे. लगातार हार पर हार झेल रही कांग्रेस की मौजूदा कम स्थिति कमजोर हो चुकी है और इसी कारण कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की शक्ति कम कर रही है. इसलिए यूपीए को एक ऐसे शख्स की तलाश है जो सोनिया गांधी की तरह सर्वमान्य और शक्तिशाली हो और इससे भी महत्वपूर्ण बात यह है कि वह प्रधानमंत्री मोदी से टक्कर ले सके.

whatsapp channel

google news

 
Also Read:  Gold Mines: भारत में मिला सोने का भंडार, ये तीन जिले सुधारेंगे देश की अर्थव्यवस्था

सभी राजनीतिक दलों के साथ हैं अच्छे संबंध

खबरों की मानें तो यूपीए की अध्यक्ष पद के लिए शरद पवार इस रेस में सबसे आगे हैं महाराष्ट्र की राजनीति के अहम नेता शरद पवार के सभी राजनीतिक दलों के साथ अच्छे संबंध है. इसका सबसे अच्छा और ताजा उदाहरण पिछले साल शिवसेना के साथ मिलकर बनाई गई सरकार है. एनसीपी चीफ शरद पवार के पास मित्र और शत्रु पर समान रूप से हावी होने का खास गुण है जो यूपीए प्रमुख के रूप में गठबंधन का प्रबंधन करते समय महत्वपूर्ण होगा. आपको बता दें कि सोनिया गांधी 2004 से ही यूपीए की अध्यक्ष हैं 2004 में जब सोनिया गांधी यूपीए की अध्यक्ष बनी तब उस वर्ष डॉ मनमोहन सिंह के प्रधानमंत्रीत्व काल में चुनाव के बाद अन्य वाम दलों के साथ सरकार बनाई थी. गठबंधन के वर्तमान सदस्यों में कांग्रेस, राजद, डीएमके, जेएमएम, डीएमके और एआईएडीएमके, नेशनल कॉन्फ्रेंस समेत कई दल शामिल है.

Share on