नीतीश कुमार से कोई समझौता नहीं, मध्याविधि चुनाव के लिए हम तैयार: तेजस्वी यादव

बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के पटना लौटते ही बिहार में राजनीति शुरू हो गई है. उन्होंने मीडिया से बातचीत के दौरान नीतीश के साथ जाने वाले बयानों पर पूर्णता विराम लगा दिया है. नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने कहा कि दोबारा उनके साथ जाने का सवाल ही नहीं उठता यह सरकार ज्यादा दिन की मेहमान नहीं है. उन्होंने कहा कि हम बिहार में मध्यावधि चुनाव के लिए तैयार हैं.

दरअसल कुछ दिनों से बिहार में चर्चा थी कि अरुणाचलप प्रदेश की घटना को लेकर नीतीश कुमार भाजपा से नाराज हैं. खबरें तो यह भी आने लगी थी कि नीतीश कुमार महागठबंधन के साथ जा सकते हैं. लेकिन शुक्रवार को तेजस्वी यादव ने बयान देकर साफ कर दिया कि नीतीश के साथ हुआ समझौता नहीं करेंगे.

तेजस्वी यादव ने बिहार की एनडीए सरकार पर हमला करते हुए कहा कि पिछले 16 सालों के भीतर बिहार को बहुत बड़ा नुकसान हुआ है. एनडीए सरकार बिहार के लिए अभिशाप है इस सरकार ने 16 सालों में नौजवानों को बेरोजगार दिया बना दिया है. उन्होंने जेडीयू और बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा कि एनडीए जनादेश की चोरी कर सत्ता में आई है. यह सत्ता के लोभी लोग हैं सत्ता के लोग में इन्होंने बिहार को बर्बाद कर दिया है.

कोई ऑफर नहीं दिया

वही मीडिया से बातचीत के दौरान तेजस्वी यादव ने पत्रकारों के सवाल पर जवाब देते हुए कहा कि हमारी पार्टी की ओर से नीतीश कुमार को कोई ऑफर नहीं दिया गया. इस तरह का सवाल करना ही गलत है. उन्होंने कहा बिहार का जनादेश नीतीश कुमार के खिलाफ है उनकी कोई नीति नहीं है, विचारधारा नहीं है. नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने आगे कहा वह गरीब के लिए नहीं है, मजदूर के लिए नहीं है सवाल ही नहीं उठता कि उनसे तालमेल की कोई बात हो. आपको बता दें कि अरुणाचल प्रदेश की घटना के बाद लगातार कयास लगाए जा रहे हैं कि बिहार एनडीए सरकार में उथल-पुथल हो सकती है.

whatsapp channel

google news

 
Share on
Also Read:  तेजस्वी यादव से काफी ज्यादा पढ़ी-लिखी है उनकी पत्नी राजश्री यादव, जाने कहाँ तक की है पढ़ाई