Tuesday, February 7, 2023
spot_img

2 साल में पूरे देश से खत्‍म कर दिए जाएंगे टोल प्‍लाजा, केंद्र की बड़ी घोषणा!

अब नेशनल हाईवे पर सफर करते समय वाहन चालकों को बार-बार टोल प्लाजा पर रूकना नहीं पड़ेगा क्योंकि देश में दो साल में सभी नेशनल हाईवे पर लगे टोल प्लाजा सेंटर को हटा लिया जाएगा. भारत में वाहनों की स्वतंत्र आवाजाही के लिए केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री (Road Transport and Highways Minister) नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने बड़ा ऐलान किया है. केंद्रीय मंत्री के मुताबिक, अब देशभर में नेशनल हाईवे पर सफर करते समय वाहन चालकों को बार-बार टोल प्लाजा पर रूकना नहीं पड़ेगा. जी हां, नितिन गडकरी ने गुरुवार को बताया कि आने वाले दो सालों में भारत को टोल बैरियर से मुक्त बना दिया जाएगा.

whatsapp

गुरुवार को एसोचैम के सम्मेलन में केंद्रीय मंत्री नीतीन गडकरी ने कहा कि मंत्रालय जीपीएस तकनीक पर आधारित टोलिंग के उपयोग करने के प्रस्ताव पर काम कर रहा है और उन्होंने कहा कि अब भविष्य में आने वाले सभी वाहन भी जीपीएस सिस्टम से जुड़े रहेंगे. GPS सिस्टम को फाइनलाइज्ड कर लेंगे, जिसके बाद दो सालों में भारत पूरी तरह से टोल नाका मुक्त हो जाएगा.

1.34 ट्रिलियन तक बढ़ जाएगी टोल से आय

जीपीएस टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करने के बाद भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण की टोला 5 साल में बढ़ सकती है. उन्होंने दो साल में यह व्यवस्था लागू हो जाने की बात कही. केंद्रीय मंत्री ने अगले पांच साल में टोल कलेक्शन 1.34 लाख करोड़ रुपये के स्तर पर पहुंच जाने का भरोसा भी जताया.

1 साल पहले Fast Tag किया था अनिवार्य

केंद्र सरकार देश भर में वाहनों की स्वतंत्र आवाजाही बनाने के लिए यह खास कदम उठा रही है. पिछले 1 साल में केंद्र सरकार ने देश के सभी टोल प्लाजा पर फास्ट टैग अनिवार्य कर दिया है. फास्ट Tag की अनिवार्यता के बाद इंधन की खपत में आई है इसके अलावा प्रदूषण पर भी कुछ हद तक लगाम लगा है.

whatsapp-group

कैशलेस ट्रांजैक्शन को मिला बढ़ावा

इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन डिवाइस के इस्तेमाल से कैशलेस लेनदेन को भी बढ़ावा मिला है इसके साथ ही टोल संग्रह में पारदर्शिता भी देखने को मिली है नवंबर में राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के द्वारा जारी किए गए एक बयान के मुताबिक फास्ट टैग अब तक के कुल टोल कलेक्शन में लगभग 3 चौथाई का योगदान देता है वही 1 साल पहले 70 Crore रुपए की तुलना में 92 Crore था. Fast Tag का उपयोग पिछले कुछ महीनों में काफी बढ़ा है.

Stay Connected

267,512FansLike
1,200FollowersFollow
1,000FollowersFollow
https://news.google.com/publications/CAAqBwgKMIuXogswzqG6Aw?hl=hi&gl=IN&ceid=IN%3Ahi

Latest Articles