बिहार का ये थानेदार बेटियों को वर्दी पहनने के लिए कर रहे तैयार, दे चुके हैं 20 से अधिक बेटियों को ट्रेनिंग

आपने शाहरुख खान की फिल्म ‘चक दे इंडिया’ तो देखी होगी जिसमें शाहरुख खान लड़कियों को हॉकी खेलने का गुर सिखाते हैं. इसी तरह कुछ पटकथा मुंगेर के आरडी एंड डीजे कॉलेज के मैदान पर लिखी जा रही है. इस मैदान पर यातायात थानाध्यक्ष अंजुम होदा मुंगेर की बेटियों को वर्दी पहनने के लिए तैयार कर रहे हैं. अंजुम लड़कियों को हाई जंप (High Jump), लॉन्ग जंप (Long Jump) गोला फेंक आदि का गुर सिखा रहे हैं.

यातायात थानाध्यक्ष अंजुम ना सिर्फ लड़कियों को शारीरिक परीक्षा में सफलता हासिल करने के टिप्स दे रहे हैं. बल्कि, वह लड़कियों के आत्मविश्वास को भी बढ़ा रहे हैं. उन्होंने लड़कियों से कहा कोई ऐसा काम नहीं जो लड़के कर सके और आप नहीं. आप खुद को कभी कमजोर नहीं समझे. उन्होंने कहा आज हर क्षेत्र में लड़कियां सफलता की नई-नई कहानी लिख रही है. आप भी वर्दी पहनकर समाज में कानून का राज कायम करने में योगदान दे सकती हैं. दौड़ से लेकर लॉन्ग जंप तक में पिछड़ने वाली लड़कियों के पास अंजुम पहुंच जाते हैं और उनका हौसला बढ़ाते हैं.

थानाध्यक्ष अंजुम से फ्री प्रशिक्षण प्राप्त करने वाली छात्राएं भी उत्साह से लबरेज है.पूनम, ममता, शिल्पी आदि छात्राओं ने कहा कि वर्दी पहनकर जब अंजुम सर हम लोगों के साथ दौड़ लगाते हैं, तो हम लोगों में ऊर्जा का संचार होता है. लड़कियों ने कहा कि अंजुम सर कहते हैं बस खुद पर विश्वास रखो और लक्ष्य की प्राप्ति के लिए ईमानदारी से प्रयास करो. अंजुम सर की बातें सुनकर और बताए गए टिप्स से उम्मीद जगती है कि हम लोग जरुर सफल होंगे.

Also Read:  Bihar Police Driver Constable Exam: परीक्षा तिथि की हुई घोषणा, जाने पूरी डिटेल !

थानाध्यक्ष अंजुम के साथ-साथ पूर्व फुटबॉल खिलाड़ी बादल भी लड़कियों को प्रशिक्षण देते हैं. यातायात थानाध्यक्ष अंजू होदा ने कहा कि मैं चाहता हूं मुंगेर की बेटियां वर्दी पहन कर देश समाज की सेवा करें. यहां की लड़कियों में प्रतिभा की कमी नहीं है बस जरूरत है उन्हें सही प्रशिक्षण और दिशा देने की. उन्होंने कहा सुबह के समय छात्राओं को हर रोज अभ्यास कराने मैदान पर जाता हूं.

whatsapp channel

google news

 
Share on