Wednesday, February 8, 2023
spot_img

लाल किले पर झंडा लगाने वाला युवक पंजाब के तरनतारन का रहने वाला, परिवार भूमिगत

कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों के ट्रैक्टर मार्च के दौरान लाल किले पर जो हंगामा हुआ वह सब ने देखा। किसानों ने ना केवल ट्रैक्टर मार्च किया बल्कि तय रूट से आगे बढ़ते हुए लाल किले तक पहुंच गए। लाल किले पर केसरिया झंडा फहरा दिया इसको लेकर सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल भी हुआ। वीडियो में साफ है कि लाल किले पर केसरिया या किसान आंदोलन का झंडा फहराने की दो तीन बार कोशिश की गई। लाल किले पर झंडा फहराने वाला युवक का नाम जुगराज सिंह है और वह तरनतारन गांव का रहने वाला है।

whatsapp

सोशल मीडिया और टीवी पर चल रहे वीडियो के द्वारा उसकी पहचान कर ली गई है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पुलिस जुगराज सिंह के परिवार वालों से पूछताछ भी की है। जुगराज के पिता बलदेव सिंह मां भगवती कौर और अपनी तीनों बेटियों के साथ भूमिगत है।

माता-पिता तीन बेटियों के साथ घर से लापता हुआ

एक समाचार पत्र से युवराज सिंह के दादा महिल सिंह और उनके दादी ने बातचीत के दौरान बताया कि लाल किले पर केसरिया झंडा लगाने वाला उन्हीं का पोता है। उन्होंने बताया कि हमारा परिवार बॉर्डर से सटी कटीली तार के पास खेती करता है। उसके परिवार का कोई भी सदस्य किसी गैर सामाजिक गतिविधि में शामिल नहीं रहा है।

जुगराज के दादी ने कहा कि उसने जोश में आकर लाल किले पर झंडा चढ़ा दिया होगा। उन्होंने कहा कि गांव में 6 गुरुद्वारा साहिब है। जुगराज गुरुद्वारा में निशान साहिब पर चोला साहिब चढ़ाने की सेवा करता था। उन्होंने कहा निशान साहिब में पंजाबी चोला साहिब चढ़ाना होता था तो जुगराज सिंह यही काम करता था।

whatsapp-group

गांव वाले हैं हैरान

26 जनवरी गणतंत्र दिवस के मौके पर जब उनके गांव वाले ने देखा कि लाल किले पर झंडा फहराने वाला उन्हीं के गांव का जुगराज सिंह ही है तो यह सब देख कर हैरान हो गए। 24 जनवरी को गांव से जब दो ट्रैक्टर टोलियां किसान आंदोलन के लिए दिल्ली रवाना हुई थी तभी जुगराज सिंह भी उनके साथ दिल्ली चला गया था। एक गांव वाले ने बताया कि जुगराज मेट्रिक पास है जुगराज के इस कृत्य से गांव के सभी लोग हैरान हैं।

कुछ गांव वाले महेंद्र सिंह, गुरसेवक सिंह, साधा सिंह ने कहा कि किसान आंदोलन शांतिपूर्ण तरीके से होना चाहिए था। लेकिन कुछ शरारती लोगों ने इस आंदोलन में शामिल होकर गलत हरकत की है। जुगराज सिंह के दादा महिल सिंह ने बताया कि उनके परिवार के पास 2 एकड़ जमीन है। एक गाय और 3 भैंस भी है। उनका ट्रैक्टर कई वर्षो से खराब पड़ा है और उनके परिवार के ऊपर 4 लाख का कर्ज भी है।

पुलिस ने की परिवार से पूछताछ

लाल किले पर झंडा फहराने के बाद जुगराज सिंह का नाम जैसे ही सामने आया उसी रात 10:00 बजे पुलिस की टीम उसके घर पहुंची और परिवार के लोगों से पूछताछ भी की थी। इस दौरान उनके पिता बलदेव सिंह ने बताया कि 24 जनवरी को गांव से जब दो ट्रैक्टर ट्रॉली

Stay Connected

267,512FansLike
1,200FollowersFollow
1,000FollowersFollow
https://news.google.com/publications/CAAqBwgKMIuXogswzqG6Aw?hl=hi&gl=IN&ceid=IN%3Ahi

Latest Articles