Monday, February 6, 2023
spot_img

डॉक्टर पर RJD विधायक की दबंगई, कहा जानते नहीं मैं कौन हूँ, जाने पूरा मामला !

गोपालगंज जिले के एक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में उस वक़्त अफरातफरी का माहौल कायम हो गया जब राजद विधायक प्रेमशंकर प्रसाद यादव के बिगड़े बोल की वजह से डॉक्टरों ने कामकाज ठप कर दिया और खूब बवाल काटा. हालांकि चिकित्सकों ने इमरजेंसी सेवा जारी रखी है.

whatsapp

बताया जाता है कि प्यारेपुर गांव की एक महिला को प्रसव पीड़ा होने पर परिजन उन्हें सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, बैकुंठपुर ले गए. जहां ड्यूटी पर तैनात चिकित्सक ने महिला की हालत गंभीर देख सदर अस्पताल रेफर कर दिया. सदर अस्पताल रेफर करने पर परिजनों ने राजद विधायक प्रेमशंकर प्रसाद यादव को फोन कर महिला को भर्ती नहीं करने की शिकायत की. 

डॉक्टर का आरोप आरजेडी विधायक ने की गाली गलौज आते ही छीन लिया मोबाइल
महिला के परिवार वालों ने विधायक को फोन किया विधायक जी तुरंत अस्पताल पहुंच गए उस वक्त ड्यूटी पर तैनात रहे डॉक्टर आफताब आलम तथा डॉक्टर सरताज आलम का आरोप है कि आरजेडी विधायक अस्पताल पहुंचते ही उनके साथ गाली-गलौज करने लगा तथा उनपर हाथ चला कर उनका मोबाइल फोन भी छीन लिया

जानते नहीं मैं कौन हूं बर्बाद कर दूंगा

अस्पताल के डॉक्टरों के मुताबिक इस दौरान आरजेडी विधायक ने धमकाते हुए कहा कि जानते नहीं हो मैं कौन हूं बर्बाद कर दूंगा अस्पताल के डॉक्टरों का आरोप है कि विधायक शराब के नशे में थे. इस घटना के बाद आक्रोशित चिकित्सक कामकाज को ठप हड़ताल पर चले गए हैं. डॉक्टर आफताब आलम ने बताया कि महिला की बच्चेदानी फटने की आशंका के कारण उन्हें रेफर किया गया था. आरजेडी विधायक ने ड्यूटी पर तैनात उनके तथा उनके सहयोगी डॉक्टर सरताज आलम के साथ गाली गलौज और मारपीट की इस घटना की जानकारी सिविल सर्जन डॉक्टर T एन सिंह को दे दी गई है इमरजेंसी सेवा को जारी रखा जाएगा.

whatsapp-group

आरजेडी विधायक ने सारे आरोपों को बताया गलत

इस घटना के संबंध में जब आरजेडी विधायक प्रेम शंकर प्रसाद यादव से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि महिला के परिवार ने फोन करो ने बताया कि महिला को भर्ती नहीं किया जा रहा है अस्पताल पहुंचने पर उन्होंने देखा कि एक डॉक्टर सो रहे तथा दूसरा डॉक्टर कुर्सी पर बैठे हुए हैं विधायक को देखकर भी डॉक्टरों ने कोई रिस्पांस नहीं दिया वह कुर्सी पर बैठे रहे गाली गलौज तथा हाथ चलाने का आरोप पूरी तरह बेबुनियाद है.

बच्चे की हुई मौत, जच्चा की भी हालत गंभीर

जिस मरीज के लिए इतना सबकुछ हुआ उस बच्चे को बचाया नहीं जा सका। प्रसूता का इलाज चल रहा है। परिजनों का कहना था कि पीड़िता दर्द से कराह रही थी और डॉक्टर आराम कर रहे थे। यह दृश्य देखने के बाद जब आवाज उठाई गई।

मेरे पास पूरे घटना का साक्ष्य , डॉक्टरों पर होगी कार्रवाई

विधायक ने कहा की काम नहीं करने वाले इसी तरह का आरोप लगते है। अगर मरीज का इलाज बेहतर होता तो वो हमें क्यों फोन करता महिला के बच्चे की मौत हो गई। इन डॉक्टरों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।ताकि इस तरह की घटना दुबारा घटित नहीं हो सके। विदित हो कि गुरुवार की सुबह में भी अस्पताल में एक्सरे नहीं होने के कारण एक महिला मरीज की मौत हो गई थी।​​​​​​​

Stay Connected

267,512FansLike
1,200FollowersFollow
1,000FollowersFollow
https://news.google.com/publications/CAAqBwgKMIuXogswzqG6Aw?hl=hi&gl=IN&ceid=IN%3Ahi

Latest Articles