एक और बैंक का लाइसेंस RBI ने किया रद्द, अटके कई ग्राहको के पैसे, जानें क्या है नियम

RBI इस वक्त बैंकिंग कानूनों को सख्ती से लागू करने को लेकर काफी सख्त हो गया है. यही कारण है कि वह जरा सी भी ढील देखते ही बैंकों का लाइसेंस रद्द कर रहा है. इसी कड़ी में आरबीआई ने महाराष्ट्र के एक और बैंक का लाइसेंस रद कर दिया है. यह बैंक महाराष्ट्र में उस्मानाबाद का वसंतदादा नागरी सहकारी बैंक है. इसका लाइसेंस कैंसिल किया जा चुका है. RBI का कहना है कि यह बैंक मौजूदा वित्तीय स्थिति में डिपॉजिटर्स को पूरा भुगतान करने में असमर्थ है.

आरबीआई ने रद्द किया बैंक का लाइसेंस

आरबीआई ने वसंतदादा नगरी सहकारी बैंक का बैंकिंग नियमों को अनदेखी और जमा कर्ताओं की पूंजी की सुरक्षा को देखते हुए बैंक के लाइसेंस को रद्द कर दिया. इसके पीछे की वजह बताते हुए कहा कि वसंतदादा नगरी सहकारी बैंक की वित्तीय स्थिति ठीक नहीं है जिसके चलते वह अपनी सभी मौजूदा जमा कर्ताओं का पूरा पैसा वापस नहीं कर पाएगा. रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने सोमवार को लाइसेंस रद्द किए जाने के बाद बैंक की बैंकिंग परिचालन प्रक्रिया पर रोक लगा दी गई है. रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने कहा कि इस बैंक को चालू रखना जमाकर्ताओं के हित में नहीं है बैंक की फाइनेंसियल कंडीशन ऐसी है कि वह अपने डिपॉजिटर्स को पूरा पैसा वापस नहीं दे पाएगा.

Also Read:  आपके पास तो नहीं नकली कहे जाने वाले 500 के ये नोट? RBI ने 500 स्‍टार सीरीज वाले नोट की बताई सच्चाई

क्या होगा जमाकर्ताओं पर असर

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने बैंकिंग की सभी गतिविधियों पर रोक लगा दी है, लाइसेंस कैंसिल होने के बाद बैंक बैंकिंग रेगुलेशन एक्ट के तहत किसी भी तरह की बैंकिंग प्रक्रिया या कारोबार नहीं कर सकेगा. हालांकि आरबीआई ने जानकारी दी है कि लिक्विड प्रोसेस शुरू होने के साथ ही इस बैंक के जमाकर्ताओं का पैसा लौटाने की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी. आरबीआई ने कहा है कि बैंक के 99 फ़ीसदी से अधिक जमा कर्ताओं को उनकी पूरी रकम वापस के कर दी जाएगी. वहीं 1 फ़ीसदी ऐसे Depositers होंगे जिनकी जमा पूंजी फस जाएगी.

99 फीसदी जमाकर्ताओं को मिलेगा पूरा पैसा

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने कहा है कि लिक्विडेशन के बाद बैंक के जमा कर्ताओं को बैंकिंग डिपॉजिट इंश्योरेंस एंड क्रेडिट गारंटी कॉरपोरेशन के तहत 5 लाख रकम वापस की जाएगी. इस दायरे में बैंक के 99 फ़ीसदी जमाकर्ता आएंगे. ऐसे में 99 फीसदी जमाकर्ताओं का उनका पूरा पैसा वापस मिल जाएगा. आपको बता दें कि रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने महाराष्ट्र के कराड स्थित कराड जनता सहकारी बैंक का भी लाइसेंस रद्द कर दिया था.

whatsapp channel

google news

 
Share on