Monday, February 6, 2023
spot_img

पटना के चौराहों पर लगे सीएम नीतीश की कुर्सी काटते बीजेपी नेताओं के पोस्‍टर

बिहार में विधानसभा चुनाव भले ही संपन्न हो गया है लेकिन बिहार के मुख्य विपक्षी दल राष्ट्रीय जनता दल द्वारा जेडीयू बीजेपी को घेरने का सियासत लगातार जारी है. कभी ट्वीट के जरिए तो कभी पोस्टर वार के द्वारा. आरजेडी कोई भी मौका चूक नहीं रही है. अरुणाचल प्रदेश में जदयू विधायकों को भाजपा द्वारा अपने पाले में शामिल करने के बाद बिहार की सियासत में आरजेडी अपने लिए संभावनाएं तलाशने में जुट गया है.

whatsapp

इस तनातनी के बीच भाजपा और जदयू द्वारा दोनों की ओर से बार-बार कहा जा रहा है कि एनडीए में सब कुछ ठीक है, लेकिन राजद और कांग्रेस सहित अन्य विपक्षी दल मानने को तैयार नहीं कि दोनों के बीच सब कुछ सामान्य है. क्योंकि अरुणाचल प्रदेश मामले को लेकर जदयू और बीजेपी में तनातनी साफ दिखी है जदयू के नेता बीजेपी नेताओं पर लगातार हमलावर है.

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए नीतीश के महागठबंधन में वापसी की संभावनाओं पर कहा कि पार्टी के नेताओं में बैठक के बाद तय करेंगे कि क्या करना है. राजद द्वारा नीतीश कुमार को महा गठबंधन में शामिल करने की पुरजोर कोशिश जारी है. नए साल के पहले दिन ही पटना के चौराहों और सड़कों पर जगह-जगह पोस्टर लगाकर जेडीयू और भाजपा में टकराव दिखाने की कोशिश भी तेज हो गई है.

युवा राष्ट्रीय जनता दल के प्रदेश महासचिव ऋषि यादव के हवाले से लगाए गए पोस्टर में सीएम बिहार के मुख्यमंत्री नीतीशकुमार कुर्सी पर बैठे दिख रहे हैं. वहीं बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा, गृह मंत्री अमित शाह और केंद्रीय मंत्री नित्यानंद राय उनकी कुर्सी का पांव काटते दिख रहे हैं. वहीं, सुशील मोदी पोटली लेकर दिल्ली जाते दिख रहे हैं. इधर, पीएम नरेंद्र मोदी को बीजेपी नेताओं को शाबासी देते हुए दिखाया गया है.

whatsapp-group

जनता दल यूनाइटेड के नेताओं का कहना है कि बिहार में कोई संकट नहीं है सब कुछ ठीक है. कांग्रेस और राष्ट्रीय जनता दल सत्ता में आने के लिए परेशान है इसी परेशानी में तरह-तरह की बयानबाजी के साथ ही हथकंडे अपनाए जा रहे हैं जो सफल नहीं होने वाले हैं. राष्ट्रीय जनता दल के प्रवक्ता शक्ति सिंह यादव ने कहा कि बिहार में नीतीश कुमार और बीजेपी का गठबंधन बेमेल है.

वही जनता दल यूनाइटेड के प्रवक्ता अजय आलोक ने तेजस्वी यादव पर तंज कसते हुए कहा जिसके नेता दिल्ली में नया साल मना रहे हैं उनकी क्या बात की जाए. भले ही एनडीए के नेताओं द्वारा कहा जा रहा है कि बिहार में सब कुछ स्थिर है लेकिन ऐसा तो नहीं दिख रहा है. अरुणाचल प्रदेश की घटना के बाद बिहार में सियासत उबाल पर है. इसी को लेकर विपक्ष को संभावनाएं दिख रही है तो वह ऐसा कोई भी मौका चूकना नहीं चाहती

Stay Connected

267,512FansLike
1,200FollowersFollow
1,000FollowersFollow
https://news.google.com/publications/CAAqBwgKMIuXogswzqG6Aw?hl=hi&gl=IN&ceid=IN%3Ahi

Latest Articles