आरसीपी सिंह को नीतीश कुमार ने सौंपी है जदयू की कमान, जानिए कौन हैं R.P. Singh

जनता दल यूनाइडेट (जदयू) की रविवार को राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक हुई. नीतीश कुमार के करीबी आरसीपी सिंह को JDU का नया राष्ट्रीय अध्यक्ष चुन लिया गया है. बताया जा रहा है पार्टी की कार्यकारिणी बैठक में खुद नीतीश कुमार ने उनका नाम आगे बढ़ाया है. आरसीपी सिंह के नाम से मशहूर रामचंद्र सिंह राज्यसभा में पार्टी के संसदीय दल के नेता हैं. फिलहाल वे राज्यसभा में अपने दूसरे कार्यकाल में हैं.

कौन है आरसीपी सिंह

सबसे पहले आपको आरसीपी सिंह के बारे में अवगत करा दें, आरसीपी सिंह मौजूदा समय JDU के राज्यसभा सांसद हैं. मूल रूप से नालंदा के रहने वाले आरसीपी सिंह ओबीसी समुदाय से हैं वो कुर्मी जाति से आते हैं आपको बता दें कि नीतीश कुमार भी इसी समुदाय से हैं और नालंदा के ही रहने वाले हैं. साथ ही राजनीति में आने से पहले वो उत्तर प्रदेश काडर के पूर्व आईएएस अधिकारी रह चुके हैं. उनकी शुरुआती शिक्षा हुसैनपुर, नालंदा और पटना साइंस कॉलेज से हुई. बाद में वे जेएनयू में पढ़ाई करने के लिए चले गए.

बेनी प्रसाद वर्मा ने नीतीश कुमार से करवाई थी मुलाकात

बेनी प्रसाद वर्मा जब केंद्रीय संचार मंत्री थे तब रामचंद्र प्रसाद सिंह उनके निजी सचिव थे. नीतीश कुमार जब रेल मंत्री बने तो बेनी प्रसाद वर्मा ने उनका आरसीपी सिंह से परिचय करवाया और उन्हें अपने साथ रखने की सलाह दी. इसके कुछ दिनों बाद नीतीश कुमार जब बिहार के मुख्यमंत्री बने तो उन्होंने RCP Singh को अपना प्रधान सचिव बनाया. बाद में नीतीश कुमार उन्हें राजनीति में ले आए. फिलहाल आरसीपी सिंह बिहार से राज्यसभा सांसद हैं.

Also Read:  नीतीश कुमार के 17 नए मंत्रियों में 12 पर गंभीर केस दर्ज, सर्वाधिक 6 केस बीजेपी विधायक सुभाष सिंह पर

एक ही जाति से आते हैं नीतीश कुमार और आरसीपी सिंह

आरसीपी सिंह JDU के राज्यसभा सांसद हैं. आरसीपी सिंह मूल रूप से नालंदा के रहने वाले हैं जहां से नीतीश कुमार भी हैं. आरसीपी सिंह कुर्मी जाति से हैं और नीतीश कुमार भी कुर्मी समाज से ही आते हैं. सिंह को नीतीश कुमार का बेहद करीबी माना जाता है. चुनावों में रणनीति तय करना प्रदेश की अफसरशाही को नियंत्रित करना सरकार के लिए नीतियां बनाना और उन को लागू करने जैसे सभी कामों का जिम्मा इनके ही कंधों पर रहा है. इन्हें जदयू का “चाणक्य” भी कहा जाता है. उनको पार्टी में नीतीश के बाद नंबर 2 का दर्जा हासिल है. राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने से पहले आरसीपी सिंह JDU के राष्ट्रीय महासचिव थे.

whatsapp channel

google news

 

आरसीपी सिंह ने 21 मई 1982 में गिरजा सिंह से शादी की थी उनकी दो बेटियां है. आरसीपी सिंह दबंग आईपीएस अधिकारी और लेडी सिंघम के नाम से मशहूर आईपीएस लिपि सिंह के पिता हैं. लिपि सिंह 2016 बैच की आईपीएस अधिकारी है. 2020 विधानसभा चुनाव के दौरान मुंगेर में दुर्गा मूर्ति विसर्जन के दौरान आम नागरिकों और पुलिस के बीच हिंसक झड़प हुई और गोलीबारी में एक युवक की मौत हो गई. इस घटना ने तूल पकड़ा और लोगों ने लिपि सिंह के खिलाफ कार्रवाई की मांग की. लोगों ने आरोप लगाया कि पुलिस के तरफ से हुई फायरिंग में युवक की मौत हुई थी. लिपि सिंह को हटाने की मांग तूल पकड़ने के बाद नीतीश कुमार ने उन्हें मुंगेर पुलिस अधीक्षक के पद से हटा दिया.

Share on