14 साल की उम्र मे ही हो गयी शादी, 18 साल मे बनी माँ, लेकिन नही मानी हार और बन गई IPS अफ़सर

भारत को आजादी मिले हुए 70 साल से ज्यादा हो चुके हैं लेकिन देश में आज भी कई ऐसे राज्य हैं। जहां पर लड़कियों की छोटी उम्र में ही शादियां कर दी जाती है। छोटी उम्र के कारण कई ऐसे लड़कियां होती है जो अपने सपने को पूरा नहीं कर पाती। लेकिन आज हम एक ऐसी महिला के बारे में बताने जा रहे हैं जिनकी शादी सिर्फ 14 साल में हो गई और 18 साल में मां बन गई। इसके बावजूद वह IPS अफसर बनने में कामयाब रही।

कैसे आया IPS बनने का ख्याल ?

आपको बता दें कि एन अंबिका तमिलनाडु की रहने वाली हैं। अंबिका जब केवल 14 साल की थी तभी उनकी शादी कर दी गई थी। उनके पति एक पुलिस हवलदार थे। गणतंत्र दिवस के मौके पर जब अंबिका अपने पति के साथ परेड देखने गई तो उस वक्त अंबिका ने देखा कि उनके पति उच्च अधिकारियों को सलाम कर रहे हैं। जिससे उन्हें काफी अजीब लगा इसके बाद उन्होंने अपने पति से पूछा कि वह कौन थे जिन्हें आप सलाम कर रहे थे? इस पर उन्होंने पति ने बताया कि वे आईपीएस अफसर थे। आईपीएस बनने के लिए बहुत कठिन परीक्षा पास करनी होती है इसके बाद अंबिका ने सोच लिया कि वह आईपीएस परीक्षा पास करके रहेगी।

Also Read:  कभी गरीबी के चलते अनाथालय में गुजारना पड़ा था बचपन, अपने मेहनत बदौलत आज है IAS

18 साल की उम्र में दो बेटियों की मां बन गई थी

काफी छोटी उम्र में अंबिका की शादी हो जाने के कारण उनकी पढ़ाई भी छूट गई थी। शादी के 4 साल के बाद वह दो बेटियों की मां बन चुकी थी। इसके बाद उन्होंने सिविल सर्विसेज की परीक्षा पास करके आईपीएस अधिकारी बनने का फैसला कर लिया था। हालांकि उस वक्त वह दशमी भी पास नहीं थी। ghar की जिम्मेदारी होने के कारण वह स्कूल भी नहीं जा सकती थी।

डिस्टेंस लर्निंग से किया ग्रेजुएशन

हालांकि अंबिका दसवीं पास नहीं थी इसके लिए उन्होंने एक हल खोजा। अंबिका ने प्राइवेट कोचिंग से दसवीं का परीक्षा दिया और डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन किया। बच्चों से दूर रहना एक मां के लिए आसान नहीं है। पर उन्होंने बच्चों से दूर रहकर चेन्नई में सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी कि उनके पति ने भी उनका सपोर्ट किया

whatsapp channel

google news

 

3 बार फेल हुए पर हारी नहीं

कभी-कभी सफलता पाने में बहुत देर लग जाती है। अंबिका के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ। उन्होंने तीन बार IPS के लिए परीक्षा दी पर वह लगातार तीन बार फेल हुई। परीक्षा ना पास ना कर पाने के कारण उनके पति ने भी उन्हें वापस घर लौट जाने को कहा। लेकिन अंबिका हार नहीं मानी। अंबिका एक बार और प्रयास करना चाहती थी। उन्होंने अपने पति से अंतिम बार परीक्षा देने के बारे में कह कर तैयारी करने लगी। आखिरकार चौथी बार अंबिका UPSC की परीक्षा में सफलता पाई। साल 2008 में अंबिका ने यूपीएससी की परीक्षा पास करके IPS बनकर ही घर वापस लौटी।

Share on