Monday, January 30, 2023
spot_img

पति हुए देश के लिए बलिदान तो पत्नी बोली अब मैं करुगी देश की रक्षा, बनी भारतीय सेना का हिस्सा

यह कहानी उस महिला की है जिसने सेना में देश की सेवा कर रहे अपने पति को खो दिया था. अब वह महिला भी सेना का हिस्सा बनने जा रही हैं. हम बात कर रहे हैं 32 वर्षीय ज्योति नैनवाल की जिनकी शादी दीपक नैनवाल से साल 2011 में हुई थी. उनके पति नायक दीपक नैनवाल अप्रैल 2018 में जम्मू कश्मीर के कुलगांव में घायल हुए थे और मई 2018 में शहीद हो गए थे. आपको बता दें कि ज्योति नैनवाल जल्द ही चेन्नई में ऑफिसर ट्रेनिंग अकादमी में अपना प्रशिक्षण शुरू करेगी.

whatsapp

‘New Indian Express’ से ज्योति नैनवाल ने कहा कि मैंने खुद से कहा कि दीपक नहीं चाहेंगे कि मैं भी उनके जैसा बनू. मैंने भारतीय सेना में शामिल होने का फैसला लिया है मेरे पति मुझे दुनिया का बहादुरी से सामना करते देख पसंद करेंगे. उन्होंने कहा कि भारतीय सेना ने भी मेरा समर्थन किया है. बातचीत के दौरान ज्योति ने बताया कि जब मेरे पति आतं-की हम-ले में घायल हुए थे तो अपने पति की 40 दिनों तक अस्पताल में देखभाल की थी.

इसी दौरान उन्होंने सीखा कि भारतीय सेना ना केवल बहादुर दिलों का बल्कि उन्हें उनके परिवारों का भी ख्याल रखती है. दीपक ने बताया कि मुझे सेना में होने की क्षमता मिली है.आपको बता दें कि ज्योति के पति नायक दीपक नैनवाल 10 अप्रैल 2018 में जम्मू कश्मीर के कुलगांव में घायल हुए थे और 2018 में दुनिया से चले गए. आपको बता दें कि कश्मीर के कुलगांव में आतंकवादियों से लड़ते हुए उन्हें 3 गो-लियां लगी थी. उनके 5 साल का बेटा और 8 साल की बेटी भी है.ज्योति और दीपक की शादी साल 2011 में हुई थी ज्योति याद करती है कि- मेरे पति अक्सर दोहराया करते थे यह बहुत सामान्य घाव है मैं जल्द ही ठीक हो जाऊंगा चिंता मत करो दुर्भाग्य से ऐसा नहीं हुआ.

बताते चलें कि दीपक का परिवार तीन पीढ़ियों से देश की सेवा कर रहा है. उनके दादा सुरेशानंद नैनवाल स्वतंत्रता सेनानी थे उनके पिता चक्रधर पी नैनवाल सेना से सेवा निर्मित है उन्होंने 1971 में पाकिस्तान के साथ युद्ध में कार्यवाही का हिस्सा थे.

whatsapp-group

Stay Connected

267,512FansLike
1,200FollowersFollow
1,000FollowersFollow
https://news.google.com/publications/CAAqBwgKMIuXogswzqG6Aw?hl=hi&gl=IN&ceid=IN%3Ahi

Latest Articles