बिहार: प्रशांत किशोर के घर पर चला की बुलडोजर, तोड़ा गया बाउंड्री और गेट, प्रशासन ने बताई ये वजह

सियासत में नजदीकी और दूरी के कई मायने होते हैं। प्रशांत किशोर जब बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के करीबी थे तो उन्हें JDU में उपाध्यक्ष पद से नवाजा गया था। लेकिन कुछ सालों पहले जब प्रशांत किशोर और नीतीश कुमार के रिश्तो में दूरियां बढ़ी तो बिहार में उनके मकान पर बुलडोजर चला दिया गया। 10 मिनट में बाउंड्री और दरवाजा उखाड़ फेंका गया।

हालांकि प्रशासन ने बताया कि नेशनल हाईवे के लिए अधिग्रहित की गई जमीन पर प्रशांत किशोर के मकान का हिस्सा आ रहा था। NH-84 के चौड़ीकरण के लिए अधिग्रहित की गई जमीन पर उनके मकान की बाउंड्री और उसका गेट आ रहा था जिसे गिरा दिया गया है। आपको बता दें कि यह मकान प्रशांत किशोर के पिता श्रीकांत पांडे ने बनवाया था।

प्रशासन का कहना है कि नेशनल हाईवे के चौड़ीकरण के लिए जो भी जमीन इसमें आ रहा है सब को हटाया जा रहा है। कुछ जगहों के मालिक खुद ही यह काम कर रहे हैं। लेकिन प्रशांत किशोर का घर कुछ समय से खाली था इसलिए हमें जेसीबी मशीन लानी पड़ी। उन्होंने बताया कि जिला प्रशासन ने इस बात की पहले से ही घोषणा कर दी थी कि जिनकी जमीन ली जाएगी। उन्हें उचित प्रक्रिया के तरह मुआवजा भी दिया जाएगा।

SDM ने बताया कि इलाके में स्थित भगवान ब्रह्मा के मंदिर को भी हटा दिया गया है। कुछ लोगों को इस बात की आपत्ति थी कि वहां से मंदिर क्यों हटाया गया। आपको बता दें कि प्रशांत किशोर ने नीतीश कुमार के काफी नजदीकी माने जाते थे। वह जेडीयू के उपाध्यक्ष पद पर भी रह चुके हैं। हालांकि इन दोनों में रिश्तो की तल्खी के वजह से इन्हें जेडीयू से निष्कासित कर दिया गया।

whatsapp channel

google news

 
Share on

Leave a Comment