बचपन मे उठ गया पिता का साया, मामा ने पढाकर बना दिया इसरो मे अंतरिक्ष वैज्ञानिक

कहते है कि प्रतिभा किसी सुविधा या पैसों की मोहताज नहीं होती. यदि मन में लक्ष्य हासिल करने की सच्ची लगन हो तो विपरीत परिस्थितियों में भी बड़े से बड़ा मुकाम हासिल किया जा सकता है. कुछ ऐसा ही कर दिखाया है सासाराम के एक युवक ने. 22 वर्षीय अंकित गुप्ता सासाराम के तकिया बाजार के रहने वाले हैं अंकित गुप्ता का चयन भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान परिषद में अंतरिक्ष वैज्ञानिक के लिए हुआ है.

बचपन में ही अंकित के सिर से पिता का साया उठ गया. उसके बाद अंकित अपनी आगे की पढ़ाई के लिए उत्तर प्रदेश के गोरखपुर अपने मामा के यहां चले गए. चौथी कक्षा से लेकर बारहवीं तक उन्होंने गोरखपुर से पढ़ाई की 1 साल की तैयारी के बाद अंकित का JEE Main में चयनित हुआ.

चौथी कक्षा में छूट गई थी पढ़ाई

अंकित के सर से उनके पिता का साया बचपन में ही उठ गया अंकित 10 साल के थे वह चौथी कक्षा में पढ़ाई करते थे अचानक उनके पिता का निधन हो गया उसके बाद अंकित की पढ़ाई छूट गई थी लेकिन अंकित की मां प्रेमलता ने हिम्मत नहीं हारी और अपने बेटे को आगे की पढ़ाई के लिए गोरखपुर अपने मामा के यहां भेज दिया.

अंकित ने गोरखपुर में 12वीं तक पढ़ाई की उसके बाद उन्होंने इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी की, जिस उम्र में ज्यादातर युवा नए दोस्त बनाने और शॉपिंग मॉल, मल्टीप्लेक्स में मशगूल रहते हैं उस समय अंकित अंतरिक्ष में उड़ा भरने के सपने बुन रहे थे. अंतरिक्ष विज्ञान में रुचि के कारण इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ स्पेस साइंस एंड टेक्नोलॉजी त्रिवेंद्रम में उनका चयन हो गया. जहां से उन्होंने अंतरिक्ष विज्ञान की गहन अध्ययन किया.

whatsapp channel

google news

 

त्रिवेंद्रम से की पूरी पढ़ाई

अंकित का नामांकन त्रिवेंद्रम के इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ स्पेस साइंस एंड टेक्नोलॉजी में हो गया जहां से पढ़ाई पूरी करने के बाद उनका चयन इसरो के विक्रम साराभाई अंतरिक्ष केंद्र तिरुअनंतपुरम में अंतरिक्ष वैज्ञानिक के रूप में हुआ है. आपको बता दें कि दिसंबर 24 दिसंबर को ही अंकित को इसरो से नियुक्ति प्रस्ताव मिला है तीन भाइयों में दूसरे नंबर पर अंकित हैं. अंकित का इसरो में वैज्ञानिक के रूप में चयन होने पर उनके परिवार में खुशी का माहौल है उनकी मां तथा उनके आसपास के रहने वाले लोग अंकित के उज्जवल भविष्य की कामनाएं कर रहे हैं.

अपनी सफलता पर क्या कहते हैं अंकित गुप्ता?

अंकित गुप्ता अपनी सफलता पर कहते हैं मैं बचपन से ही लक्ष्य के प्रति संकल्पित रहा. टाइम मैनेजमेंट से ही कम समय में बेहतर प्रदर्शन किया जा सकता है. अपने समय का बेहतर उपयोग कर कोई भी अपनी मंजिल आसानी से पा सकता है.

Share on

Leave a Comment