जब BJP विधायक बोले- धर्म विशेष वाले बढ़ा रहे जनसंख्या, ओवैसी के MLA ने कहा- यह मर्दानगी का काम

हमेशा की तरह एक और बीजेपी विधायक अपने बयानों के कारण सुर्खियों में है। दरअसल बात ये है कि बीजेपी विधायक ने एक खास समुदाय पर टिप्पणी की है और उनको जनसंख्या वृद्धि के लिए जिम्मेदार बताया है जिससे बवाल मच गया है। अगर बात मुस्लिम समाज की हो और ओवैसी जो कि अपनी समुदाय की अगुवाई करते हैं वो इसका पलटवार ना करें ऐसा हो सकता है क्या?
ओवैसी की पार्टी के विधायक ने भी इसपर विवादित प्रतिक्रिया दी है।

बिहार में नीतीश कुमार की अगुवाई में बीजेपी और जेडीयू की गठबंधन की सरकार चल रही है। बिहार से बीजेपी के सांसदों ने पहले भी इस तरह का विवादित बयान देकर सुर्खियां बनाई थी। इस बार बीजेपी विधायक ने बिहार की बढ़ती जनसंख्या पर टिप्पणी की है। आपको बताते चले की अभी बिहार विधानसभा का सत्र चल रहा है। जिसमे मंगलवार को माननीय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार प्रजनन दर घटाने की लेकर विधानसभा में कुछ बोला था।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार प्रजनन दर पर कहा

उन्होंने बताया था कि बिहार ने प्रजनन दर को घटाने में उनकी योजनाएं सफल हुई हैं। हालांकि यह बात बीजेपी विधायक को कुछ रास नहीं आयी। भाजपा विधायक हरी भूषण ठाकुर ने मीडिया से बात करते हुए कहा की हां प्रजनन दर तो घटा है लेकिन सिर्फ हिन्दुओं का और खासकर एक समुदाय है जिसपर इसका कोई असर नहीं दिख रहा है। उनका कहना था धर्म विशेष यानी “मुस्लिम” की आबादी तेजी से बढ़ रही है । वो लोग चाहते की पूरे देश का इस्लामीकरण हो जाए। इस पर असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी AIMIM के विधायक ने भी जोरदार प्रतिक्रिया दी है।

Also Read:  अपने पिता की विरासत संभालेगे ओसामा शहाब ? पूर्व सांसद प्रभुनाथ सिंह से मुलाकात के क्या है मायने
भाजपा विधायक हरी भूषण ठाकुर

भाजपा विधायक हरी भूषण ठाकुर ने यहां तक कह दिया कि वह बिहार में ऐसा कुछ होने नहीं देंगे। उनका कहना था कि वह बिहार विधानसभा सत्र में इस मुद्दे को मजबूती से उठाएंगे । वह इसी सत्र में जनसंख्या नियंत्रण कानून लागू करने की सिफारिश करने जा रहे हैं। उनका कहना था कि कुछ विशेष समुदाय चाहते हैं कि वह अपनी जनसंख्या को अत्यधिक बढ़ाकर अल्पसंख्यक से बहुसंख्यक हो जाए जो कि मैं होने नहीं दूंगा। उन्होंने कहा कि हर संसाधनों पर तो सीमा है लेकिन जनसंख्या पर क्यों नहीं।

whatsapp channel

google news

 

आगे उन्होंने अधिकारियों पर भी मोर्चा खोलते हुए कहा कि मुख्यमंत्री को अधिकारियों ने गलत जानकारी प्रस्तुत की है। अधिकारियों ने माननीय मुख्यमंत्री को सही जानकारी उपलब्ध नहीं कराई है । उनका यह भी कहना था कि जब वह क्षेत्र भ्रमण पर जाते हैं तो देखते हैं कि नसबंदी केंद्रों में ज्यादातर पुरुष हिंदू समाज के ही होते हैं मुस्लिम समाज के ना के बराबर दिखते हैं।

AIMIM के विधायक अख्तरुल इमान ने किया पलटवार

AIMIM के विधायक अख्तरुल इमान

भाजपा विधायक के इस बयान पर AIMIM के विधायक अख्तरुल इमान ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि ” आबादी बढ़ाना मर्दानगी का काम ” है । जिसमे मर्दानगी है वो बढ़ाए । आबादी कभी किसी का नुकसान नहीं करती ।” इमाम ने कहा कि हिंदुस्तान बड़ा मुल्क है । यहां सब को स्वतंत्र रूप से जीने की आजादी है। उन्होंने कहा कि सरकार अगर जनसंख्या नियंत्रण करना चाहती है तो पहले सदन में इस पर कानून लाए उसके बाद हम लोग विचार करेंगे कि क्या करना है।

Also Read:  बिहार में गंगा नदी पर 4 लेन वाला 14वां पुल बनाने का किया गया ऐलान, जानें रूट और फायदे

हालांकि उनका कहना था कि यह कानून बिहार में लागू करना संभव नहीं है। उन्होंने विपक्षी विधायकों पर कटाक्ष करते हुए कहा कि कुछ लोग फिरकापरस्त हैं जो इस तरह की बात करके माहौल को खराब करना चाहते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि बिहार के लोग समझदार है वह सब कुछ जानते हैं वह ऐसा कुछ होने नहीं देंगे।

जब इस मामले पर बवाल मचा तो कुछ पत्रकारों ने मुख्यमंत्री से यह सवाल किया कि इस घटना पर आपकी क्या प्रतिक्रिया है तो उन्होंने साफ इनकार कर दिया कहा कि मैंने ऐसा कुछ नहीं सुना है मैं तो जनसंख्या नियंत्रण पर काम कर रहा हूं और उसका असर भी दिख रहा है।

Share on