देश के लिए गर्व का पल: आज संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद में लहरायागा भारत का तिरंगा

देश के लिए आज काफी गर्व करने वाला दिन है क्योंकि आज संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में अपने देश का राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा लहरायागा जाएगा। आज भारत संयुक्त राष्ट्र के इस शक्तिशाली इकाई में 2 वर्षों के लिए अस्थाई तौर पर अपना कार्यकाल शुरू करेगा। आज पांच नए अस्थाई सदस्यों के राष्ट्रीय ध्वज संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के एक विशेष कार्यक्रम के दौरान लगाए जाएंगे। अस्थाई सदस्यों के आधिकारिक रूप से आज 4 जनवरी 2021 पहला कार्य दिवस होगा।

बता दें कि भारत की ओर से संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत के प्रतिनिधित्व T.S. त्रिमूर्ति आज संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में तिरंगा लगाएगे। उम्मीद की जा रही है कि इस समारोह के दौरान T.S त्रिमूर्ति एक संक्षिप्त संबोधन भी दे सकतेहैं। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत के अलावे चार अस्थाई सदस्य नॉर्वे, केन्या, आयरलैंड और मेक्सिको को शामिल किया गया है। वही 5 स्थाई सदस्य अमेरिका, फ्रांस, ब्रिटेन, रूस और चीन है।

भारत 2021 के अगस्त महीने से सुरक्षा परिषद का अध्यक्ष रहेगा, इसके अलावा 2022 में 1 महीने के लिए परिषद की अध्यक्षता करेगा। गौरतलब है कि हर एक सदस्य परिषद कि 1 महीने की अध्यक्षता करता है जो कि अंग्रेजी वर्णमाला के अनुसार देश के नाम से तय किए जाते हैं। झंडा लगाने की शुरुआत सबसे पहले कजाकिस्तान ने 2018 में प्रारंभ किया था।

2 वर्ष का कार्यकाल

आज भारत चीन से सीमा विवाद के साथ पूरा विश्व कोरोना के संकट से जूझ रहा है, इन सब समस्याओं में भारत आठवीं बार आज अस्थाई सदस्यता का आगाज करेगा। भारत 1 जनवरी 2021 से लेकर 31 दिसंबर 2022 तक सुरक्षा परिषद को अस्थाई सदस्य रहेगा। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के अस्थाई सदस्य का कार्यकाल 2 वर्ष के लिए अभी तय किया गया है।

whatsapp channel

google news

 

भारत की कूटनीतिक ताकत होगी मजबूत

भारत का विश्व पटल पर अभी भूमिका काफी बढ़ती जा रही हैं, सभी वैश्विक समस्याओं पर भारत को पूरा विश्व सुनने लगा है, ऐसे में संयुक्त राष्ट्र परिषद में अस्थाई सदस्य सदस्यता मिल जाने पर भारत की कूटनीतिक ताकत काफी मजबूत होगी।

192 सदस्यों में से 184 सदस्य ने भारत को दिया समर्थन

आपको बता दें कि 17 जून को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के अस्थाई सदस्य के चुनाव में भारत ने काफी बहुमत से अस्थाई सदस्य चुना गया था, 192 सदस्यों में से 184 सदस्य ने भारत को अपना वोट दिया था, इतना ही नहीं लगभग एक दशक के बाद इस तरह से कोई देश संयुक्त परिषद में एकतरफा जीत दर्ज कर शामिल हुआ था, अब से भारत 2 वर्षों तक सुरक्षा परिषद की मेज पर अस्थाई सदस्य के रूप में अपनी भूमिका निभाएगा।

Share on

Leave a Comment