Thursday, February 2, 2023
spot_img

बिहार में गन्ना उधोग का होगा आधुनिकरन, अब गन्ने से बनेगा चॉकलेट और डिब्बा बंद जूस

बिहार डेस्क : बिहार सरकार लगातार कोशिश कर रही है की बिहार में ज्यादा से ज्यादा गन्ने से जुड़ा उद्योग बढ़ाया जा सके। ऐसे में गन्ने से जुड़ा जूस का काम और गुड़ बनाने का काम और इनसे जुड़े चॉकलेट जैसे अन्य पदार्थ बनाने का काम करने की तैयारी सरकार कर रही है। गन्ने से जुड़े व्यापारियों को निवेश के लिए सरकार प्रोत्साहन दे रही है।

whatsapp

गन्ना उद्योग विभाग ने कहा है कि गन्ने के काम को आगे बढ़ाने के लिए नए तरह के नियम कानून एवं पॉलिसियाँ तैयारी की जा रही है। इन पॉलिसी मे ज्यादा से ज्यादा उद्यमियों का टैक्स माफ़ होगा और निवेश भी आएगा। गन्ने की मदद से ज्यादा से ज्यादा पदार्थ बनाए जा सकेंगे। इस कार्य को करने के लिए पूंजीगत निवेश 50 फ़ीसदी करने की बात चल रही है, अधिकारियों का कहना है कि चॉकलेट, टॉफी, ड्राई फ्रूट जैसे उत्पाद तैयार करने के लिए आधुनिक तकनीकें इस्तेमाल की जाएंगी।

इस तरह से होगा आधुनिकरण

अगर सब कुछ सरकार की रणनीति के मुताबिक़ चलता है तो किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं आएगी। इस पॉलिसी के तहत वित्तीय सहायता भी सरकार की ओर से मुहैया कराई जाएगी। इससे बिहार में मौजूद गन्ना इंडस्ट्री फल फूल सकेगी। अगर बिहार में गन्ने की इंडस्ट्री लग जाती है तो डिब्बाबंद गन्ने के पैकेट भी बिकने लगेंगे। इन पैकेट में गन्ने का रस होगा। सरकार ने अत्याधुनिक मशीनें खरीदने पर भी अनुदान की पेशकश की है।

गन्ने की मशीन मॉल में, दुकान में मौजूद होंगी। जहां पर आसानी से गन्ने का जूस लेकर पिया जा सकेगा। वही ठेले पर गन्ना बेचने वालों को भी इसका फायदा मिलेगा। गन्ने का रस बेचने वाली मशीन जो इंजन से चलती है वह भी काफी प्रचलित है। इस बार इथेनॉल के प्रावधान के साथ-साथ गन्ना उद्योग को बढ़ावा दिया जा रहा है। इसके पीछे साफ मकसद है कि ज्यादा से ज्यादा लोगों को रोजगार मिल सके और गन्ने की इंडस्ट्री आगे बढ़ सके। पॉलिसी में बदलाव का एकमात्र कारण है कि ज्यादा से ज्यादा निवेशक बिहार में निवेश कर सकें।

whatsapp-group

Stay Connected

267,512FansLike
1,200FollowersFollow
1,000FollowersFollow
https://news.google.com/publications/CAAqBwgKMIuXogswzqG6Aw?hl=hi&gl=IN&ceid=IN%3Ahi

Latest Articles