Wednesday, February 1, 2023
spot_img

लालू यादव के रिहाई को लेकर तेजस्वी को बड़ा झटका, टाली गयी सुनवाई !

तेजस्वी यादव को अक्सर अपनी रैलियों में कहते हुआ सुना आपने सुना होगा कि 9 नवंबर को मेरा जन्मदिन है, 9 नवंबर को मेरे पिताजी लालू यादव भी कोर्ट से रिहा हो जाएंगे और 10 तारीख को बिहार विधानसभा में हमारी सरकार बनेगी। परंतु तेजस्वी यादव को अपने पिताजी लालू यादव की रिहाई को लेकर एक बड़ा झटका लगा है। उनकी सुनवाई टाल दी गई है। आपको बता दें कि लालू यादव की आज शुक्रवार को सुनवाई होने वाली थी, जिससे अब आगे की तिथि के लिए टाल दिया गया है इसका मतलब क्या हुआ कि फिलहाल अब लालू यादव जेल में ही रहेंगे। अब उनकी जमानत याचिका छठ पर्व के बाद सुनवाई की जाएगी।

whatsapp

आपको बता दें कि शुक्रवार को लालू यादव की दुमका ट्रेजरी मामले में सुनवाई होने थी, परंतु सीबीआई ने इस पर अपना पक्ष रखने के लिए समय मांगा था, इसके बाद हाईकोर्ट ने इसे 27 नवंबर तक के लिए टाल दिया। गौरमतलब है कि दुमका ट्रेजरी से अवैध निकासी के मामले में लालू यादव पहले ही आधी सजा काट पहले ही चुके हैं। इसी को आधार मानकर उन्होंने कोर्ट से जमानत याचिका लगाई थी और उसकी सुनवाई शुक्रवार को होने थी, परंतु इससे आज स्थगित कर आगे की तिथि के लिए टाल दिया गया।

माना जा रहा है कि इस मामले में अगर हाईकोर्ट से लालू यादव को जमानत मिल जाती है तो लालू यादव को जेल से बाहर आने का रास्ता लगभग साफ हो जाएगा। लाल यादव को चारा घोटाला के अन्य मामलों में जमानत मिल चुकी है। बता दे कि फिलहाल लालू यादव रांची के रिम्स में इलाज करवा रहे हैं।

लालू यादव पर है ये सारे मामले

  • लालू यादव को चारा घोटाले के मामले में दोषी पाया गया है जिसमें उन्हें 5 साल की सजा भी हुई है जबकि ₹2500000 के जुर्माने भी लगाए गए हैं।
  • देवघर कोषागार से जुड़े मामले में भी इन्हें दोषी पाया गया है जिनमें उन्हें 3 साल की सजा हुई है जबकि 500000 का जुर्माना भी लगाया गया है।
  • वही चाईबासा कोषागार से अवैध निकासी के मामले में भी इन्हें दोषी पाया गया है जिसमें इन्हें 5 साल की सजा हुई है और 1000000 के जुर्माने भी लगाई गई है।

दुमका कोषागार से जुड़े मामले में इन्हें विभिन्न धाराओं के तहत 7 साल की सजा सुनाई गई है। दरअसल यह घोटाला उस समय सामने आया जब चारा घोटाला के संबंधित पश्चिमी सिंहभूम के तत्कालीन उपायुक्त अमीर खरे जी ने 27 जनवरी 1996 को इसके खिलाफ मामला दर्ज कराया था। बिहार पुलिस ने इस पर मामला दर्ज कर जांच के लिए आगे बढ़ा दिया। इसके बाद लालू यादव से जुड़े अन्य मामले भी सामने आए। बाद में इस मामले को सीबीआई ने अपने पास लेकर जांच शुरू किया और यह 24 वर्षों से चला आ रहा है।

whatsapp-group

Stay Connected

267,512FansLike
1,200FollowersFollow
1,000FollowersFollow
https://news.google.com/publications/CAAqBwgKMIuXogswzqG6Aw?hl=hi&gl=IN&ceid=IN%3Ahi

Latest Articles