Monday, February 6, 2023
spot_img

बिहार के साकेत झा ने JEE Mains में सौ फीसदी अंक हासिल कर रचा इतिहास, बताया कामयाबी का राज

सोमवार की रात ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जाम (JEE Mains Result) का रिजल्ट घोषित किया गया, जिसके प्रकाशित होते ही बिहार के शिवहर में खुशियों की लहर दौड़ गयी। दरअसल इस बार 6 प्रतिभागियों ने इस JEE Mains परिणाम में सौ फीसदी अंक हासिल किया है , जिसमे शिवहर के साकेत झा भी शामिल हैं।

whatsapp

साकेत झा के माता पिता मूल रूप से शिवहर के ही रहनेवाले हैं। इस खबर के आने के बाद शिवहर के लोग गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं, साकेत के गाँव में खुशियों की लहर दौड़ गयी और बधाई देनेवालों का तांता लग गया। साकेत के माता पिता उसकी इस उपलब्धि से बेहद खुश हैं। उनके मुताबिक साकेत ने जी तोड़ मेहनत, लगन, धैर्य और एकाग्रता की बदौलत यह उपलब्धि हासिल कर सका है। वही साकेत ने बताया कि उसने मोबाईल और इंटरनेट से दूरी बनाकर ये कामयाबी हासिल की। कोरोना संकट में उन्होंने बोकारो आकार ऑनलाइन शिक्षा ली।

आर्यभट्ट मैथेमेटिक प्रतियोगिता में हासिल किया प्रथम स्थान

परिजनों ने संकेत झा के बारे में बताया कि उसने राजस्थान के कोटा से JEE का फॉर्म भरा था और कुछ समय बाद वह आईएससी बोर्ड से 12th की परीक्षा में शामिल होगा। परिजनों ने साकेत के बारे बताते हुए कहा वह आरम्भ से ही पढाई में तेज विद्यार्थी थे, मैट्रिक बोर्ड में भी उन्होंने 94 प्रतिशत मार्क्स प्राप्त किया था। साकेत ने पांचवी और आठवी क्लास में अखिल भारतीय स्तर पर होनेवाले आर्यभट्ट मैथेमेटिक प्रतियोगिता में भाग लिया था और प्रथम स्थान हासिल किया था। उन्होंने रीजनल मैथेमेटिक ओलंपियाड में भी सफलता प्राप्त की थी।

साकेत ने बताया कि वे शुरू से ही इंजीनियर बनने का सपना देखते थे । अपने इस सपने को हकीकत में तब्दील करने के लिये उन्होंने शुरू से ही पढाई को गंभीरता से लिया। इंजीनियरिंग की पढाई के लिये मशहूर कोटा में वह इंजीनिरिंग की कोचिंग करना चाहते थे। उन्होंने स्कोलरशिप के लिये एलेन इंस्टिट्यूट की ओर से आयोजित की जानेवाली परीक्षा में भाग लिया और बेहतरीन प्रदर्शन किया, जिसके आधार पर उन्हें 9 से 12th तक निःशुल्क शिक्षा, आवास, भोजन और कोचिंग की सुविधा उपलब्ध कराई गई।

whatsapp-group

साकेत अपनी सफलता का श्रेय अपने माता पिता को देते हैं। साकेत के पिता संजय कुमार झा मूल रूप से शिवहर के पुरनहिया प्रखंड के चिरैया बाराही क़े रहनेवाले हैं । वे झाऱखंड के राज्य संपोषित उच्च विद्यालय,टांडी बालिडीह में प्राचार्य है, जबकि साकेत झा की माँ सुनीता झा एक गृहिणी है। साकेत ने अपनी माँ के बारे में बताते हुए कहा कि माँ ने हमेशा से उनकी पढाई में सहयोग किया।

Stay Connected

267,512FansLike
1,200FollowersFollow
1,000FollowersFollow
https://news.google.com/publications/CAAqBwgKMIuXogswzqG6Aw?hl=hi&gl=IN&ceid=IN%3Ahi

Latest Articles