Tuesday, February 7, 2023
spot_img

बंगाल में मस्जिद के लाउडस्पीकर से बुलाये 500 लोगों की भीड़ ने किया था इंस्पेक्टर अश्विनी पर हमला, पढ़ें हत्या की पूरी कहानी

कुछ दिन पहले की ही बात है ज़ब बिहार ने अपना एक बहादुर बेटा खोया था. अभी भी उस घटना के बारे मे याद कर के लोगो के आँखो मे आंसू आ जाते है और साथ ही साथ गुस्सा भी, बंगाल के उन दरिंदो पर जिन्होंने बड़ी बेरहमी के साथ इंस्पेक्टर को पिट -पिट कर मार डाला था.अब शहीद इंस्पेक्टर अश्विनी कुमार की हत्या के केस मे अब एक नया खुलासा हुआ है.

whatsapp

साथी ने किया खुलासा

किशनगंज के निलंबित अंचल निरीक्षक मनीष कुमार ने पंतापाड़ा ओपी में प्राथमिकी दर्ज करने के लिए एक आवेदन दिए है , उस आवेदन मे यह स्पष्ट है कि जिस समय शहीद अश्विनी कुमार अपने पुरे टीम के साथ बाइक लुटेरों को गिरफ्तार करने पश्चिम बंगाल के गांव में गए तब वहां के कुछ स्थानीय लोगो द्वारा मस्जिद से लाउडस्पीकर से अनाउंसमेंट किया गया जिसके बाद लगभग 500 लोगों की भीड़ इकट्ठा हो गयी थी. भीड़ जितने भी लोग थे सभी लोगों के हाथ में लाठी, लोहे के रॉड और चाकू और अन्य हथियार थे.

इस भीड़ मे आये लोगो ने अश्विनी कुमार को पिट पिट कर मार दिया था. ज़ब अश्विनी कुमार को इस्लामपुर अस्पताल लाया गया तो उन्हें डॉक्टरों ने उन्ह्र मृत घोषित कर दिया था . पंतापाड़ा ओपी में एफआईआर संख्या 96/2021 के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है, जिसमें 21 लोगों पर नामजद और 500 अज्ञात लोगों पर मॉब लीचिंग और इंस्पेक्टर को पिट कर जान से मारने का केस दर्ज किया गया है.

IPC की धारा 147, 148, 149, 341, 332, 333, 353, 307, 302 और 34 के तहत प्राथमिकी भी दर्ज कराई गई है. इस हत्याकांड में पुलिस ने अभी तक कई आरोपी को गिरफ्तार भी कर लिया है. चार डॉक्टरों के बोर्ड ने शहीद अश्विनी कुमार का पोस्टमार्टम गया था . पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी पूरे शरीर पर जख्म और पिटाई से मौत की बात कहा गया है. दर्ज प्राथमिकी के अनुसार , अपराधियों और उग्र भीड़ ने एसएचओ की अमानवीय तरीके से पिटाई कर उनकी हत्या की है.

whatsapp-group

मोदी जी भी किया जिक्र

सोमवार के दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस घटना का जिक्र किया और बोले कि एक बहादुर पुलिस ऑफिसर कि बंगाल में पीट-पीटकर हत्या कर दी गई. इस सदमे को उनकी मां भी बर्दाश्त नहीं कर पाईं और उनका भी निधन हो गया. एक साथ घर से मां और शहीद बेटे की अर्थी निकली थी. इस घटना के लिए मोदी ने बंगाल की कानून व्यवस्था और दीदी को जिम्मेदार ठहराया था.

बेटी कर रही ये मांग

शहीद इंस्पेक्टर की बेटी नैंसी ने भी सिस्टम पर कई सवाल खडे किये . नैंसी ने अपने पापा के लिए इंसाफ की मांग की है और ये भी कहा है कि इंस्पेक्टर को तो मार दिया पापा को इंसाफ दे दो . अस्वनी कुमार के घरवाले इस घटना की सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं. सोमवार को किशनगंद के एसडीपीओ ने भी यह चौकाने वाला खुलासा किया था कि मस्जिद से अनाउंस कर वहा भीड़ जुटाई गई थी और मॉब लीचिंग कर थाना प्रभारी अश्विनी कुमार की पीट-पीटकर हत्या की गई थी.

Stay Connected

267,512FansLike
1,200FollowersFollow
1,000FollowersFollow
https://news.google.com/publications/CAAqBwgKMIuXogswzqG6Aw?hl=hi&gl=IN&ceid=IN%3Ahi

Latest Articles