चिराग पासवान ने किया खुलासा: किनके कहने पर LJP बिहार मे NDA से अलग हुई !

बिहार में चुनाव की तैयारियां काफी जोरों शोरों से चल रही है क्योंकि बिहार चुनाव का पहला चरण 28 अक्टूबर से शुरू होने जा रहा है. इस पहले चरण के चुनाव में 16 जिलों की कुल 71 विधानसभा सीटों पर चुनाव कराए जाएंगे. इस बार बिहार विधानसभा में रामविलास पासवान की पार्टी लोक जनशक्ति पार्टी अकेले चुनाव लड़ रही है.

पिछले चुनाव में लोक जनशक्ति पार्टी ने एनडीए के साथ चुनाव लड़ी थी। इस बार लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान उन सभी सीटों पर अपने उम्मीदवार उतार रहे हैं जिन सीटों पर जदयू ने अपने उम्मीदवार उतारे हैं। कुछ दिन पहले उन्होंने एक नारा भी दिया था कि बीजेपी से वैर नहीं पर नितीश तुम्हारी खैर नहीं। इस बीच यह बात सामने आई है कि आखिर चिराग पासवान अकेले चुनाव क्यों लड़ रहे हैं। वह एनडीए गठबंधन में क्यों नहीं है। इस बात का खुलासा खुद चिराग पासवान ने एक इंटरव्यू में किया है।

अकेले बिहार विधान सभा चुनाव लड़ने की प्रेरणा इनसे मिली

समाचार चैनल एनडीटीवी के मुताबिक चिराग पासवान में इस बारे में बात करते हुए कहा कि उन्हें अकेले बिहार विधान सभा चुनाव लड़ने की प्रेरणा किसी और से नहीं बल्कि उनके स्वर्गीय पिता जी से मिली है। उन्होंने पिताजी को याद करते हुए कहा कि पिताजी मुझे अक्सर कहा करते थे तुम्हारा अकेले चुनाव में उतरना अच्छा रहेगा। इससे पार्टी को भी मजबूती मिलेगी और इसका विस्तार भी होगा। बता दें कि कुछ दिन पहले इनके पिता रामविलास पासवान जी का निधन हो गया है और अब चिराग पासवान अकेले बिहार विधान सभा चुनाव लड़ने का फैसला लिया है। चिराग पासवान ने ऐलान किया कि वह भाजपा के साथ गठबंधन में बने रहेंगे परंतु जदयू के खिलाफ हर सीट पर अपना उम्मीदवार उतारेंगे।

whatsapp channel

google news

 
Also Read:  बिहार के मुजफ्फरपुर में प्लास्टिक के कचरे से पेट्रोलियम तैयार करने वाली देश का पहला प्लांट हुआ स्थापित 

इस बात को लेकर जदयू के कई बड़े नेता ने कहा कि अगर रामविलास पासवान जी जिंदा होते तो एलजीपी कभी भी अलग चुनाव नहीं लड़ती। इस पर बिहार के डिप्टी सीएम और भाजपा के बड़े नेता सुशील मोदी ने भी कहा कि अगर रामविलास जी होते तो कभी भी नीतीश जी के खिलाफ नहीं जाते। पर इन सब बातों को गलत साबित करते हुए चिराग पासवान ने बताया कि लोक जनशक्ति पार्टी को अकेले चुनाव लड़ने का सपना खुद पिताजी का ही था।

तुम तो युवा हो, तुम्हें अकेले चुनाव लड़ना चाहिये

उन्होंने 2015 में भी मुझसे कहा था कि तुम तो युवा हो, तुम्हें अकेले चुनाव लड़ने की जरूरत है, तुम प्रदेश को और पार्टी को काफी आगे ले जा सकते हो। आगे बात करते हुए चिराग पासवान ने कहा कि जब शाहनवाज हुसैन और नित्यानंद राय जी पिताजी से मिलने उनके पास गए थे तब पिताजी का भी यही रुक था। उन्होंने यह स्पष्ट कर दिया था और मुझसे भी यह स्पष्ट तौर पर कहा था कि इस बार तुम्हारी वजह से फिर से नितीश कुमार अगले 5 सालों तक बिहार के मुख्यमंत्री नहीं बनने चाहिए क्योंकि इससे प्रदेश फिर से 10-15 साल पीछे चला जाएगा.

Share on