बर्तन मांजने वाली कलिता और दिहाड़ी करने वाली चंदना को BJP ने बंगाल मे दिया टिकट

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव मे रोज नए-नए च दिलचस्प बात सामने आ रही है। अब यह दिलचस्प बात भारतीय जनता पार्टी से जुड़ा हुआ है। भारतीय जनता पार्टी ने अपने चुनाव उम्मीदवारों को घोषणा करते हुए तो दो ऐसी महिलाओं को टिकट दिया है जिसमे से दूसरे के घर बर्तन माँजती और दुसरी एक दिहारी मजदूर है।

कलिता घर घर में बर्तन मांजती है

भाजपा ने कलिता मानसी को आयुष ग्राम विधानसभा सीट से अपना विधानसभा उम्मीदवार बनाया है। 32 वर्षीय कलिता घर घर में बर्तन मांज कर अपना जीवन यापन करती है। जब उन्हें यह खबर पता चली तो उन्हें या मजाक जैसा लगा । यह खबर सुनने के बाद भी वो दूसरे के घर परबरतन माँजने चली गई। उनको यह सूचना फोन कर दी गई। जब कलिका बर्तन मांज अपने घर वापस लेंगे लौटी तो उन्होंने देखा कि उनके घर पर समर्थकों का जमावड़ा लगा हुआ है। वह यह देख बिल्कुल ही भौचक रह गई।अब उन्हें आयुष ग्राम विधानसभा सीट से उम्मीदवार बनने की बात सच लगने लगी।

किसान की बेटी और एक पलंबर की पत्नी

बता दे की कलिता एक किसान की बेटी और एक पलंबर की पत्नी है। वह लगभग दो दशकों से घर घर जाकर बर्तन मांज अपना जीवन यापन कर रही है। अब कलिका ने अपने चुनाव प्रचार के लिए उन घरों से छुट्टी ले ली है जहां जहां वह काम करती है।कलिता पूर्वी वर्तमान जिले के एक गरीब परिवार से ताल्लुक रखती है। अपने चुनाव प्रचार में वह कहती है कि अगर वह जीतकर आती है तो महिलाओं के अनुकूल समाज बनाने का सपना साकार करेगी। उन्होंने कहा कि उनका सपना है कि प्रधानमंत्री मोदी जी उनके चुनाव प्रचार के लिए यहां आए।

Also Read:  आरक्षण को लेकर सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, कहा चयन हो योग्यता के अनुसार

झोपड़ी में रहने वाली कालिका कार के मात्र 5 ही साड़ियां हैं, इसके अलावा उनके जनधन अकाउंट में भी कुछ पैसे हैं जिसमें से करीब 15 सो रुपए इन्हें प्रधानमंत्री से प्राप्त हुआ है। अपनी पूरी संपत्ति उन्होने 7000 बताई है। कलिका पहले से बीजेपी की सदस्य रह चुकी है और पंचायत चुनाव में अपना भाग्य आजमा चुकी है।

whatsapp channel

google news

 

चन्दना के पास तीन बकरियां और तीन गाय

इसके अलावा भारतीय जनता पार्टी ने एक दूसरे महिला चन्दना को भी टिकट दिया है। चंदना भी बेहद गरीब परिवार से ताल्लुक रखती है। जिनके पास संपत्ति के नाम पर मात्र तीन बकरियां और तीन गाय हैं । अभी भी चन्दना झोपड़ी मे रहती है, उनके पास शौचालय तक नहीं है। बीजेपी ने इन्हें बंगाल के बांकुड़ा क्षेत्र से सालपुरा विधान सभा सीट के लिए अपना उम्मीदवार बनाया है। इनकी संपत्ति के नाम पर मात्र ₹32000 हैं।

चंदना के प्रति एक दिहारी मजदूर हैं जो कि करीब ₹400 प्रतिदिन कमाते हैं। इसके अलावा चंदना भी अपने पति के काम में मदद करती है। चंदना पहले से भाजपा से जुड़ी हुई है वह भाजपा के सीनियर सदस्य रह चुकी है। यह अपने चुनाव प्रचार के लिए रोज सुबह 8:00 बजे बाहर निकल जाती है और महिला को सशक्त करने के लिए लोगों से अपने वोट मांगती है

Share on