केंद्रीए मंत्री का बड़ा बयान: नितीश तो केंद्र मे भी फिट, बिहार संभाले कोई स्वर्ण !

कल बिहार विधान सभा चुनाव के अंतिम चरण समाप्त हो गए. बिहार विधानसभा चुनाव के समाप्त हो जाने के बाद सभी चैनलों के एक्जिट पोल सामने आ गए. बहुत सारे चैनलों में एग्जिट पोल में आरजेडी और एनडीए के बीच कड़ी टक्कर नजर आ रही है परंतु टुडे चाणक्य एग्जिट पोल में राजद गठबंधन की सरकार बनती नजर आ रही है। इनके एग्जिट पोल में NDA का बिल्कुल ही नामोनिशान खत्म होता मालूम पड़ रहा है। फिलहाल तो एग्जिट पोल में राजद का ही पलड़ा भारी नजर आ रहा है परंतु सही आकड़ा तो 10 नवंबर को ही आएगा।

अब ऐसे में केंद्रीय मंत्री अश्वनी चौबे का एक बड़ा बयान सामने आया है। जब अश्वनी चौबे से एग्जिट पोल पर सवाल पूछे गए तो उन्होंने कहा कि 10 नवंबर का इंतजार कीजिए सारा मामला ही पलट जाएगा। अश्वनी चौबे ने एक  न्यूज़ चैनल से बातचीत में बताया कि एग्जिट पोल में वैसे लोग का आंकड़ा होता है जो बेबाक बोलते हैं परंतु हम लोगों कावोटर साइलेंट वोटर हैं और इन साइलेंट वोटरों का ही रुख सरकार तय करती है।

बिहार में इस बार स्वर्ण को कमान दी जाए

उन्होंने आगे कहा कि इस बार भी बिहार में एनडीए की ही सरकार बनेगी, परंतु मेरा निजी राय यह है कि बिहार में इस बार स्वर्ण को कमान दी जाए या किसी अति पिछड़ा को भी बिहार की कमान दी जाए। अश्वनी चौबे जी ने अपने इशारों में कहा कि नीतीश कुमार जी तो एवरग्रीन है, वह तो दिल्ली में भी फिट बैठ जाएंगे। लेकिन यह सब डिसाइड करना तो नीतीश कुमार को है कि उन्हें कहां रहना है।

Also Read:  क्या तारकिशोर बनेगे बिहार की डिप्टी सीएम? जाने नीतीश कुमार ने क्या कहा!

एनडीए मे रहा बिखराव

वही भाकपा माले की एक नेत्री कविता कृष्णा ने कहा कि इस बार बिहार चुनाव मैं महागठबंधन की मानो बाढ़ सी आ गई। इस बार महागठबंधन में हमेशा से एकता दिखी परंतु एनडीए गठबंधन में शुरू से ही बिखराव रहा। बीजेपी ने तो अपने पोस्टर पर से नीतीश को भी हटवा दिया। इस बार बिहार के लोग महागठबंधन की सरकार बनाकर मिसाल पेश करेंगे। लोगों ने इस बार बता दिया कि सिर्फ आसमान के सपने दिखाने वाले नहीं, जनता को रोजी-रोटी देने वाले भी सत्ता में आ सकते हैं।

whatsapp channel

google news

 

राजद सांसद और प्रवक्ता मनोज झा ने एग्जिट पोल पर कहा कि इस बार हम लोगों ने अपना मुद्दा शुरू से ही तय कर लिया था। हम लोग रोजगार पर इस बार चुनाव लड़े। महागठबंधन ने शुरू में ही रोजगार को लेकर अपना रुख साफ किया और इसमे लोगों ने काफी सपोर्ट किया। इस बार जनता का प्रचंड बहुमतमहागठबंधन को मिलेगा और महागठबंधन की सरकार बनेगी।

Share on