Monday, January 30, 2023
spot_img

कभी ट्यूशन पढ़ाया करते थे बाईजूस के मालिक बायजु रवीन्द्रन, आज है देश के टॉप अमीरों में शामिल

बाईजूस-द लर्निंग एप के बारे में आपने सुना ही होगा जिसने देश भर के बच्चों को ऑनलाइन सीखने का एक नया प्लेटफार्म दिया। सिर्फ बच्चे ही नही इस एप की मदद से युवायें भी अपने प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी कर सकते है। लेकिन क्या आप जानते है इस एप को बनाने के पीछे किसका हाथ है। इस एप के फाउंडर है 38 वर्षीय बायजु रवीन्द्रन जिन्होंने ना सिर्फ अपनी कड़ी मेहनत से इस एप को सफल बनाया बल्कि 2019 के फोर्ब्स मैगज़ीन में 100 रिचेस्ट इंडियंस की लिस्ट में अपनी जगह भी बनाई हैं। ऐसे में आज हम आपको बताते है ​बाइजूस के सफलता की कहानी के बारे में।

whatsapp

सेल्फ लर्निंग एप बाईजुस को शुरू करने वाले रवीन्द्रन मूल रूप से केरल के रहने वाले है और यही के मीडियम स्कूल से उन्होंने अपनी पढ़ाई पूरी की। बचपन से ही उन्हें मैथ्स और साइंस में खास रुचि थी और ये दोनों उनका पसंदीदा सब्जेक्ट भी था। एक शिक्षक का बेटा होने के बाद भी रविंद्रन ने कभी भी एक शिक्षक बनने का नही सोचा और हमेशा से ही स्पोर्ट्स में आगे रहे। हालांकि उन्होंने अपने पढ़ाई पूरी कर कुछ सालों तक शिपिंग फर्म में बतौर सर्विस इंजीनियर काम किया और साथ में छुट्टियों के दिनों में अपने दोस्तों को कॉमन एंट्रेंस टेस्ट की ट्यूशन देनी शुरू की।

एक बार स्टेडियम में ट्यूशन ऑर्गेनाइज करना पड़ा था

दोस्तों को ट्यूशन देने के कुछ दिनों बाद रविंद्रन को उनके दोस्तों के दोस्तों ने भी जॉइन कर लिया और धीरे धीरे उनका क्लास इतना मशहूर हो गया कि उन्होंने अपनी नौकरी छोड़ क्लासेज देना शुरू कर दिया। फिर एक समय ऐसा आया जब रविंद्रन को स्टेडियम में ट्यूशन ऑर्गेनाइज करना पड़ा जहां उन्होंने लगभग 25000 स्टूडेंट्स को एक साथ क्लासेज दी।

इसी ट्यूशन से प्रभावित होकर रविंद्रन ने साल 2015 में बाईजुस एप को लांच किया। इस लर्निंग एप को ना सिर्फ स्कूली बच्चों के लिए, बल्कि CAT, सिविल सेवा परीक्षा, JEE, NEET और भी तरह के प्रतियोगिता परीक्षा देने वाले छात्रों के लिए भी बनाया गया। इस एप की एक और सबसे खास बात यह थी कि इसे निवेशकों ने हाथों-हाथ निवेश किया है. वेंचर कैपिटल फंड​ सिकोया कैपिटल और बेल्जियम की निवेश कंपनी ने 75 मिलियन डॉलर का निवेश किया था. यह भारत के किसी भी एजुकेशन स्टार्टअप में ​अब तक का सबसे बड़ा निवेश था. कई अन्य कंपनियों ने बाइजूस में भारी निवेश किया है.

whatsapp-group

आपको बता दें की यह एप देश के उस लिस्ट में शामिल है जिसने बहुत ही कम समय में अच्छा ग्रोथ किया हो। बाईजुस ने पिछले दिनों में अच्छा खासा नाम कमाया हैं। पिछले साल के मुकाबले साल 2019 में इस कंपनी का ग्रोथ 100 फीसदी ने बढ़कर 200 फीसदी हो चुका है। इस साल बाईजुस ने घोषणा कर देश को यह बताया कि 2019 में कंपनी की रेवेन्यू 1,430 करोड़ रुपये रही.

Stay Connected

267,512FansLike
1,200FollowersFollow
1,000FollowersFollow
https://news.google.com/publications/CAAqBwgKMIuXogswzqG6Aw?hl=hi&gl=IN&ceid=IN%3Ahi

Latest Articles