Sunday, September 24, 2023

आ रही है कम किराये वाले वंदे साधारण ट्रेन, जाने कब-कहां और किन शहरों के बीच होगी शुरु?

Vande Sadharan Train: वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन देश के ज्यादातर शहरों में दौड़ना शुरू हो गई है। वहीं जल्द ही कई जगहों पर स्लीपर वंदे भारत को दौड़ने की तैयारी भी जोरों-शोरों से तैयारी चल रही है। इसके अलावा भारतीय रेलवे की ओर से कमजोर आर्थिक वर्ग के लोगों के लिए भी वंदे भारत ट्रेन लाने की तैयारी चल रही है। हालांकि ट्रेनों के नाम अब तक तय नहीं किए गए हैं, लेकिन इन्हें ‘वंदे साधारण ट्रेन’ कहा जा रहा है। यह ट्रेन किराए के लिहाज से सस्ती होंगी। हालांकि उनकी सुविधा वंदे भारत एक्सप्रेस की तरह ही लग्जरी होगी। इन ट्रेनों में कुल 24 कोच दिए जाएंगे और ये दो इंजन से लैस बताई जा रही है। इन ट्रेनों के कोच चेन्नई में तैयार किया जा रहे हैं, जिनका पहला लुक सामने आ गया है।

जल्द पटरी पर दौड़ेगी ‘वंदे साधारण ट्रेन’(Vande Sadharan Train)

वंदे साधारण ट्रेन की तस्वीरों के साथ यह सामने आया है कि इन ट्रेनों के कोच भगवा और सलेटी रंग में रंगे जाएंगे। रेलवे ने इसे लेकर आधिकारिक तौर पर अब तक कुछ भी बयान जारी नहीं किया है, लेकिन सोशल मीडिया पर वंदे साधारण ट्रेन के तस्वीर और लुक काफी वायरल हो रहा है। ऐसे में आइए हम आपको बताते हैं कि वंदे साधारण ट्रेन के कोच कैसे होंगे?

कैसा होंगे वंदे भारत साधारण ट्रेन के कोच

वंदे साधारण ट्रेन के गैर सरकारी कोच चेन्नई स्थित रेल कोच फैक्ट्री में तैयार किया जा रहे हैं। जानकारी के मुताबिक इन कोचों की लागत 65 करोड रुपए के आसपास बताई जा रही है। इस साल के आखिर तक इन्हें पूरी तरह से तैयार कर लिया जाएगा। हालांकि इन ट्रेनों को पूरी तरह से तैयार होने में 100 करोड रुपए की लागत लगेगी। इन ट्रेनों की स्पीड दूसरी ट्रेनों के मुकाबले ज्यादा होगी। चेन्नई, दिल्ली, बेंगलुरु, मुंबई, कोलकाता और चंडीगढ़ जैसे शहरों में इनका संचालन किया जाएगा।

whatsapp

ये भी पढ़ें- बिना अकाउंट में बैलेंसके भी सकेंगे यूपीआई पेमेंट, जाने क्या है इसका तरीका?

खासतौर पर वंदे साधारण ट्रेनों के जरिये दिल्ली, चेन्नई, मुंबई, बेंगलुरु, कोलकाता और चंडीगढ़ को खासतौर पर यूपी, बिहार, झारखंड, छत्तीसगढ़ और उड़ीसा जैसे शहरों के बीच दौड़ाई जाएगी। इससे इन शहरों के बीच कनेक्टिविटी बढ़ेगी। वंदे साधारण ट्रेनों को चलाने के पीछे रेलवे विभाग का एकमात्र मकसद प्रवासी मजदूरों का शहरों से आवागमन आसान करना है।

google news

किन रुटों पर चलेगी वंदे साधारण ट्रेन?

रेलवे के सूत्रों का इस मामले में कहना है कि इसके लिए रूटों का सर्वेक्षण किया जा रहा है, जिन रूटों पर सबसे ज्यादा प्रवासी मजदूरों की आवाजाही होगी वहां इन ट्रेनों को दौड़ाया जाएगा। उन्ही रूटों से वंदे साधारण ट्रेनों की शुरुआत भी की जाएगी। खासतौर पर बिहार-यूपी के लोगों के लिए इन ट्रेनों की सुविधा शुरू की जाएगी। इन ट्रेनों की खासियत यह है कि ये आम मेल एक्सप्रेस ट्रेनों के मुकाबले ज्यादा तेज स्पीड से दौड़ती है और उनके स्टॉपेज भी कम होते हैं। इससे आम लोगों का दो शहरों के बीच सफर आसान और सुगम होगा। साथ ही कम किराए में वह कम समय में अपना सफर पूरा कर सकेंगे।

ये भी पढ़ें- छोड़िए एटीएम कार्ड का झंझट, अब UPI ATM के जरिये झट से एटीएम से निकालें पैसे; जाने कैसे

इन ट्रेनों को भले ही वंदे साधारण ट्रेनों का नाम दिया जा रहा हो, लेकिन सुविधाओं के मामले में यह वंदे भारत एक्सप्रेस से बिल्कुल भी कम नहीं होंगी। इनमें बायो वैक्यूम टॉयलेट, पैसेंजर इनफॉरमेशन सिस्टम और साथ ही हर सीट पर चार्जिंग पॉइंट की सुविधा मिलेगी। इन ट्रेनों में सीट आरामदायक होगी और साथ ही हर कोच में यात्रियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए सीसीटीवी कैमरे भी लगे होंगे।

Kavita Tiwari
Kavita Tiwari
मीडिया के क्षेत्र में करीब 7 साल का अनुभव प्राप्त हुआ। APN न्यूज़ चैनल से अपने करियर की शुरुआत की। इसके बाद कई अलग-अलग चैनलों में असिस्टेंट प्रोड्यूसर से लेकर रन-डाउन प्रोड्यूसर तक का सफर तय किया। वहीं फिलहाल बीते 1 साल 6 महीने से बिहार वॉइस वेबसाइट के साथ नेशनल, बिजनेस, ऑटो, स्पोर्ट्स और एंटरटेनमेंट की खबरों पर काम कर रही हूं। वेबसाइट पर दी गई खबरों के माध्यम से हमारा उद्देश्य लोगों को बदलते दौर के साथ बदलते भारत के बारे में जागरूक करना एवं देशभर में घटित हो रही घटनाओं के बारे में जानकारी देना है।

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
3,869FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles